• Transactions & Dealings >> Interest & Insurance

    Question ID: 179700Country: INDIA

    Title: हेल्थ इन्शुरन्स

    Question: हेल्थ इन्शुरन्स अपने पैसा से करवाना जैसे की मैंने हेल्थ इन्शुरन्स का १ साल का तीस हज़ार रुपय में करवाया अब आदमी बीमार हो जाता है और उसको हॉस्पिटल में अड्मिट के देते है। और हॉस्पिटल का बिल दो लाख बनता है जो कि इन्शुरन्स कम्पनीज़ भर देती है, क्या इस तरह से इन्शुरन्स लेना जायज़ है या नाजायज़ है?

    Answer ID: 179700Posted on: 27-Sep-2020

    Fatwa ID: 28-29/SN=02/1442

     

    हेल्थ इन्शुरन्स सूद और क़िमार (जुवे) पर मुश्तमिल होता है और यह दोनों चीज़ें उन बड़े मुह़र्रिमात में से हैं जिन पर क़ुरआन व हदीस में बहुत वईदें आई हैं; इस लिए हेल्थ इन्शुरन्स पालिसी लेकर पूछे गये सवाल के अनुसार फायदा उठाना जाइज़ नहीं है। अगर किसी ने ग़लती से ले ली है तो सिर्फ इस क़दर फायदा उठाए जितनी रक़म उसने जमा की है।

    قال الله تعالى: یَا أَیُّهَا الَّذِیْنَ اٰمَنُوْا إِنَّمَا الْخَمْرُ وَالْمَیْسِرُ وَالْأَنْصَابُ وَالْأَزْلَامُ رِجْسٌ مِنْ عَمَلِ الشَّیْطَانِ فَاجْتَنِبُوْہُ لَعَلَّکُمْ تُفْلِحُوْنَ (المائدة: 90)

    Darul Ifta,

    Darul Uloom Deoband, India