Prayers & Duties >> Zakat & Charity

Question # : 162627

India

मैं ज़कात मेरी बहन को देता हूं मेरे भाईजान खुद की ऑटो चला कर गुज़र करते हैं पर उनकी कमाई से उनका गुज़ारा नहीं होता। दवाइयों का खर्च है, घर का किराया है, बच्चों के स्कूल का खर्च है, और छोटा मोटा कर्ज भी है, क्या मेरी ज़कात देना सही है या नही?

Answer : 162627

Published on: Jun 7, 2018

بسم الله الرحمن الرحيم



Fatwa ID: 1052-885/N=09/1439



 


अगर आपकी बहन (सोने, चाँदी के ज़ेवरात की वजह से) साहबे निसाब नहीं है और आप लोग सय्यद खानदान से भी नहीं हैं तो आपका अपनी बहन को ज़कात देना दुरुस्त है, आपकी ज़कात अदा हो जाती है। और अगर आपकी बहन साहबे निसाब हो या आप लोग सय्यद खानदान से हों तो आप बहन को ज़कात नहीं दे सकते;अलबत्ता अगर आपके बहनोई घरेलू इखराजात और क़रज़ा की वजह से साहबे निसाब न हों, नींज़ सय्यद खानदान से भी न हों तो आप बहन के बजाए बहनोई को दे सकते हैं।



قال اللہ تعالی: إنما الصدقات للفقراء والمساكین الآیۃ (سورۃ التوبۃ: 60)‏، ومدیون لایملك نصاباً فاضلاً عن دینہ‏، وفی الظھیریۃ: الدفع للمدیون أولی منہ للفقیر (الدر المختار مع رد المحتار‏، كتاب الزكاۃ‏، باب المصرف‏، 3‏:289‏، ط: مكتبۃ زكریا دیوبند)‏، ولا إلی غني یملك قدر نصاب فارغ عن حاجتہ الأصلیۃ من أي مال كان الخ‏، ......... ولا إلی بنی ھاشم الخ (المصدر السابق)‏، یصرف المزكي إلی كلھم أو إلی بعضھم‏، ......... ویشترط أن یكون الصرف تملیكا‏، ........‏، لایصرف إلی بناء نحو مسجد (المصدر السابق‏، ص: 291)۔




Allah knows Best!


Darul Ifta,
Darul Uloom Deoband

Related Question